नोनी सुरक्षा योजना आवेदन 2023 : प्रथम दो पुत्री को एक -एक लाख | noni suraksha yojana cg

जय जोहार, छत्तीसगढ़ शासन की एक महत्वपूर्ण योजना से जुड़ी जानकारी के साथ एक बार पुनः आपका हमारे वेबसाइट पर स्वागत है। आज हम आपसे नोनी सुरक्षा योजना से जुड़ी जानकारी साझा करने जा रहे हैं। यदि आप भी बेटी के पिता/भाई हैं या आपके परिवार में 2014 के बाद बालिका पैदा हुई है तो इस जानकारी को आपको  ध्यान से जरूर पढ़ना चाहिए।

हमारे देश में भारत सरकार के साथ-साथ विभिन्न राज्यों में घटते लिंग अनुपात तथा समाज में बालिकाओं के प्रति सकारात्मक सोच बढ़ाने के उद्देश्य से कई योजनाएं शुरू की गई है,  यदि छत्तीसगढ़ की बात करें तो यहां के लोगों में जागरूकता की कमी है इसीलिए वे इन योजनाओं का लाभ नहीं ले पाते हैं।

इसके अलावा हमारा सरकारी व्यवस्था ही ऐसा है, कि किसी भी योजना का लाभ आम लोगों को आसानी से नहीं मिल पाता है। लाख कोशिशों के बाद भी जब लोगों इन योजनाओं का लाभ नहीं मिल पाता है, तब लोग अन्य योजनाओं के लिए भी प्रयास करना बंद कर देते हैं।

राज्य में घटते बाल लिंगानुपात तथा बालिकाओं के प्रति समाज मैं सकारात्मक सोच बढ़ाने के लिए 2014 में तत्कालीन मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह द्वारा इस योजना की शुरुआत की गई थी । 2014 से अब तक 37583 बालिकाओं को इसका लाभ मिल चुका है।

इसे भी पढ़ें – भगिनी प्रसूति योजना पहले और दुसरे बच्चे के जन्म पर 20000  रूपये 

नोनी सुरक्षा योजना क्या है –

सन 2014 में तत्कालीन मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह द्वारा राज्य में घटते बाल लिंगानुपात तथा बालिकाओं के प्रति समाज में सकारात्मक सोच बढ़ाने के लिए इस योजना की शुरुआत की गई थी। इस योजना के अंतर्गत 2014 के बाद जन्म लिए प्रथम दो पुत्रियों को एक -एक लाख रूपये की सहायता राशि दी जाती है। जोकि बालिका के 18 वर्ष पूर्ण करने तक अविवाहित होने पर तथा 12 वी पास होने पर सीधे बालिका के बैंक खाते में भेजा जाता है |

नोनी सुरक्षा योजना लाने का उद्देश्य-

नोनी सुरक्षा योजना लाने का मुख्य उद्देश्य राज्य में घटते लिंगानुपात तथा समाज में बालिकाओं के प्रति सकारात्मक सोच लाने के लिए इस योजना की शुरुआत की गई थी। जनगणना 2001 में छत्तीसगढ़ में लिंग अनुपात 1000 : 975 था जो कि जनगणना 2011 में घटकर 1000 : 964 हो गया था। इस लिए यह योजना समाज में सकारात्मक सोच लाने के लिए आवश्यक था |

इसे भी पढ़ें – दुकान के लिए लोन sc वर्ग के लोगों के लिए 

नोनी सुरक्षा योजना का उद्देश्य-

♦ प्रदेश में बालिकाओं के शैक्षणिक तथा स्वास्थ्य की स्थिति में सुधार लाना।

♦ बालिकाओं के अच्छे भविष्य की आधारशिला रखना।

♦ बालिका भ्रूण हत्या को रोकना और उनके जन्म के प्रति जनता में सकारात्मक सोच लाना।

♦ राज्य में घटते लिंग अनुपात को कम करना।

♦ बाल विवाह को रोकना।

♦ राज्य के गरीब परिवारों का बालिका जन्म लेने पर आर्थिक सहयोग करना।

नोनी सुरक्षा योजना के लिए पात्रता-

♦ इस योजना का लाभ उन्हीं परिवारों को मिल सकता है जिसमें बालिका का जन्म 1 अप्रैल 2014 के बाद हुआ हो।

♦ बालिका के माता-पिता को छत्तीसगढ़ मूल निवासी होना आवश्यक है। इसके लिए किसी विशेष वर्ग का होना आवश्यक नहीं है।

♦ इस योजना का लाभ उन्हीं परिवारों को मिलेगा जिसमें माता-पिता गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले परिवार में आते हैं।

♦ इस योजना का लाभ प्रथम दो जीवित पुत्रियों तक ही सीमित होगा, यदि दो से अधिक बालिका है तो इस योजना के लिए पात्र नहीं होंगे।

♦ द्वितीय बालिका की दशा में आवेदन करने से पूर्व माता-पिता द्वारा परिवार नियोजन का स्थाई विकल्प अपनाया जाना अनिवार्य होगा।

♦ प्रथम/ द्वितीय प्रसूति की जन्मी जुड़वा अथवा एक साथ एक से अधिक जन्मी सभी बालिकाओं को इस योजना का लाभ मिलेगा। प्रथम प्रसव में जन्मी जुड़वा बालिकाओं को इसका लाभ मिलेगा परंतु द्वितीय प्रश्नों में जन्मी तीसरी बैल का कोई इस योजना का लाभ नहीं होगा।

♦ गोद ली हुई पुत्रियों को इसका लाभ मिलेगा।

♦ इस योजना के अंतर्गत पंजीकृत बालिका का 18 वर्ष तक विवाह ना होने एवं कक्षा बारहवीं तक शिक्षा पूर्ण होने पर ही इस योजना का लाभ 1-1लाख मिलेगा।

♦ बालिका के जन्म के 1 वर्ष के भीतर आवेदन प्रस्तुत करना अनिवार्य है, यदि बालिका के जन्म के 1 वर्ष के अंदर आवेदन नहीं कर पाते हैं तो द्वितीय वर्ष के अंदर संबंधित जिला कलेक्टर के पास अपील आवेदन प्रस्तुत कर सकते हैं।

♦ माता पिता की मृत्यु हो जाने की दशा में एक बालिका की उम्र के 5 साल होने तक भी आवेदन प्रस्तुत कर सकते हैं।

♦ अनाथ बालिका होने के संबंध में बाल गृह के अधीक्षक द्वारा बालिका के गृह प्रवेश के 1 वर्षों के अंदर और बालिका के 6 वर्ष की आयु पूर्ण होने तक आवेदन कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें – दुकान के लिए लोन st वर्ग के लोगों के लिए 

नोनी सुरक्षा योजना के अंतर्गत मिलने वाली लाभ-

नोनी सुरक्षा योजना के अंतर्गत पंजीकृत बालिका का 18 वर्ष तक विवाह ना होने और कक्षा बारहवीं तक शिक्षा पूर्ण करने पर ही वित्तीय संस्था द्वारा ₹100000 अथवा शासन द्वारा निर्धारित परिपक्वता राशि दी जाती है परंतु जो भी राशि मिलेगी वह ₹100000 से कम नहीं होगी।

इस योजना के अंतर्गत पालक को थोड़ा भी आर्थिक व्यय नहीं करना है, शासन द्वारा पात्र पंजीकृत बालिका के नाम पर भारतीय जीवन बीमा निगम को 5 वर्ष तक प्रति वर्ष ₹5000 अर्थात कुल ₹25000 दिया जाएगा। एलआईसी को दी गई राशि में से 10% अनुदान निधि के रूप में इलायची को योजना प्रारंभ से दिया जाएगा ताकि परिपक्वता राशि ₹100000 से कम हो तो अनुदान निधि से अंतर की राशि की पूर्ति की जा सके।

आवेदन प्राप्ति से लेकर भुगतान तक समस्त औपचारिकताओं की पूर्ति भारतीय जीवन बीमा निगम द्वारा किया जाता है, इस हेतु भारतीय जीवन बीमा निगम राज्य सरकार के मध्य अनुबंध किया गया है। बाल पत्रिका के नाम पर प्रथम किस्त जारी करने के पश्चात ही एलआईसी द्वारा बांड जारी किया जाता है भारतीय जीवन बीमा निगम द्वारा संचालित अन्य सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का लाभ भी नियमानुसार बालिका/ उसके परिवार को दिया जाता है।

नोनी सुरक्षा योजना हेतु आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज-

♦निर्धारित प्रारूप में आवेदन पत्र।

♦बालिका का जन्म प्रमाण पत्र।

♦छत्तीसगढ़ का मूल निवासी होने संबंधी प्रमाण पत्र- तहसीलदार जारी निवास प्रमाण पत्र या बीपीएल कार्ड या स्वास्थ्य बीमा कार्ड।

♦गरीबी रेखा की सर्वे सूची में नाम दर्ज होने संबंधी प्रमाण पत्र।

♦द्वितीय बालिका होने की स्थिति में परिवार नियोजन संबंधित प्रमाण पत्र।

♦ प्रथम व द्वितीय बालिका होने के संबंध में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता/ एएनएम/ सरपंच/ पार्षद/ पंचायत सचिव द्वारा दिया गया प्रमाण पत्र।

इसे भी पढ़ें – छत्तीसगढ़ (महिलाओं के लिए) किसी भी अपराध की सुचना घर बैठे पुलिस को दें 

नोनी सुरक्षा योजना की परिपक्वता राशि भुगतान-

जैसा कि ऊपर बताया गया है बालिका के 18 वर्ष की आयु पूर्ण करने तक विवाह ना होने संबंधी घोषणा पत्र जो कि बाल विकास परियोजना अधिकारी अथवा शासन द्वारा अधिकृत किए गए अधिकारी द्वारा सत्यापित होगा और 12वीं उत्तीर्ण संबंधी अंकसूची प्रस्तुत करने के पश्चात ही भुगतान की कार्यवाही की जाएगी। भुगतान के समय लाभार्थी बालिका के नाम से बैंक में खाता खोलना होगा। तथा बैंक पासबुक की छाया प्रति भी प्रस्तुत करना होगा।

नोनी सुरक्षा योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया-

नोनी सुरक्षा योजना का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों ही तरीके से आवेदन किया जा सकता है-

ऑफलाइन आवेदन प्रक्रिया-

यदि आप नोनी सुरक्षा योजना के अंतर्गत ऑफलाइन आवेदन करना चाहते हैं तब आपको अपने गांव/ मोहल्ले के आंगनबाड़ी केंद्र /संबंधित क्षेत्र के पर्यवेक्षक/ बाल विकास परियोजना अधिकारी/ जिला महिला एवं बाल विकास अधिकारी/ जिला कार्यक्रम अधिकारी/ महिला एवं बाल विकास विभाग से संपर्क कर आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए आवेदन का फॉर्मेट नीचे दिया जा रहा है।

>>नोनी सुरक्षा योजना आवेदन फॉर्म 

नोनी सुरक्षा योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन- 

छत्तीसगढ़ नोनी सुरक्षा योजना के ऑफिशियल वेबसाइट nonisurksha.cgstate.gov.in पर जाना है।

होम पेज पर registration पर क्लिक करना है।

आवेदन फॉर्म को चार भागों में पूर्ण करना है |

♦एप्लीकेशन फिल करना
♦अपलोड डॉक्युमेंट्स
♦अपलोड एप्लीकेशन
♦सर्टिफिकेट
♦प्रिंट एंड स्टेटस

फार्म में पूछे गए सभी जानकारी को ध्यान से भरना है ध्यान रखना आया है कि गलत जानकारी किसी भी स्थिति में दर्ज नहीं करना है।

डॉक्यूमेंट अपलोड करने का पेज ओपन होगा ऊपर बताए गए दस्तावेजों को बारी-बारी से अपलोड करना है।

अंत में submit बटन पर क्लिक करना है

सबमिट करने के बाद एप्लीकेशन नंबर प्राप्त होगा जिसे नोट कर रखना है।

⇒इस सम्बन्ध में अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें 

उम्मीद है आजकल यह जानकारी आपको पसंद आया होगा यदि आपका या आपके परिवार में 2014 के बाद बालिका जन्म लिया है तो अधिकतम दो बालिकाओं को इसका लाभ मिलना है इसलिए इस जानकारी को उन तक शेयर जरूर करें इसके अलावा योजना से जुड़ी जानकारी के लिए नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में कमेंट कर अपना सवाल हमें भेज सकते हैं।

Leave a Comment